27 January 2023

अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी को कहा अलविदा, कांग्रेस में जाने की अटकलें तेज़

Thumb

महीनों की कहा सुनी और सोशल मीडिया वॉर के बाद आखिरकार चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे ही दिया. उन्होंने ट्वीटर पर 'आप' से अपने इस्तीफे का एलान किया. उन्होंने कहा कि अब अलविदा लेने का समय आ गया है. साथ ही अरविन्द केजरीवाल से गुज़ारिश करते हुए अलका ने लिखा के उनका त्यागपत्र स्वीकार किया जाए. अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी पर 'खास आदमी पार्टी' होने का इलज़ाम भी लगाया. 

कांग्रेस में जाने कि अटकलें तेज़ 
अलका लांबा के इस्तीफे कि चर्चा तभी तेज़ हो गई थी जब पिछले हफ्ते उन्होंने कोंग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी से मुलाक़ात कि थी. अलका लांबा 'आप' ज्वाइन करने से पहले कांग्रेस पार्टी में थीं. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'अब पार्टी को अलविदा कहने का समय आ गया है और मैं पार्टी कि प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देती हूँ. बीते छः सालों में मैंने बहुत कुछ सीखा है. आप सभी का शुक्रिया.' अलका लांबा का आम आदमी पार्टी से इस्तीफा देना स्वाभाविक है. वह काफी लम्बे समय से पार्टी लाइन से हट कर बयान दे रहीं थी. 

सोनिया गांधी से मुलाक़ात करने के बाद अलका लांबा ने कहा था कि इस मुलाक़ात में देश की वर्तमान राजनितिक स्तिथि पर चर्चा हुई. 20 साल तक कांग्रेस के साथ रहने के बाद 2013 में अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी कि सदस्यता ली थी. AAP के टिकट पर वह चांदनी चौक विधानसभा सीट से विधायक चुनी गयीं. 2019 आम चुनाव में पार्टी कि शिकस्त के बाद अलका ने अरविन्द केजरीवाल से जवाब माँगा था. इसके बाद उन्हें पार्टी के व्हाट्सएप्प ग्रुप से बाहर कर दिया गया था. 

Latest News