22 June 2021

नोएडा का युवक ईरान में जहाज़ से लापता,परिजनों को मानव तस्करी का शक

Thumb

नोएडा का एक युवक ईरान में समुद्री जहाज़ से लापता हो गया है. परिजनों को शक है के वह मानव तस्करी का शिकार हो गया. साथ ही परिजनों ने शिपिंग कंपनी ओर नोएडा स्तिथ प्लेसमेंट कंपनी पर मिली भगत होने का आरोप लगाया. परिजनों ने विदेश मंत्रालय ओर पीएमओ से मदद की गुहार लगाई है. परिजन लगातार विदेह मंत्री एस जयशंकर ओर भारतीय दूतावास को चिट्ठी भी लिख रहे हैं. ईरान स्तिथ असालु बंदरगाह पर भारतीय दूतावास ने 48 घंटे का सर्च ऑपेरशन भी चलाया पर कोई कामयाबी हाथ नहीं लगी. 

प्लेसमेंट एजेंसी पर मिली भगत का आरोप 
23 साल का आयुष चौधरी नोएडा के सेक्टर-22 का निवासी है. वह नोएडा स्तिथ प्लेसमेंट कंपनी आरएएस शिपिंग के माध्यम से इस नौकरी पर गया था. आयुष ने दुबई के पिंक रोज़ कंपनी के जहाज़ पर 4 मई 2018 से अपनी नौकरी शुरू की. बहन शैली चौधरी ने बताया की वह दुबई की जहाज़ से ईरान गयाथा. जहाँ उसका जहाज़ ईरान के असालु बंदरगाह पर रुका था. शुक्रवार को पिंक रोज़ कंपनी ने फ़ोन कर के बताया की आयुष समुद्र में गिर गया है. परिवार वाले आरोप लगा रहे हैं के यह मानव तस्करी का मामला है. परिवार ने नोएडा की प्लेसमेंट एजेंसी पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया है. 

बैंक अकाउंट भी मिला खाली 
आरएएस शिपिंग कंपनी ने आयुष के परिवार से उसकी प्लेसमेंट के लिए साढ़े चार लाख रूपए लिए थे. लेकिन उसे ऑयल टैंकर पर न भेजकर एक पुराने जहाज़ पर भेज दिया गया. वह पिछले दो महीने से लगातार जहाज़ पर नौकरी कर रहा था फिर भी उसके अकाउंट में पैसे नहीं हैं. कंपनी से पूछने पर जवाब मिला के पैसे कैश में दिए जा रहे थे. इस पर आयुष के परिवार वालों का कहना है के वह जहाज़ पर कैश पैसे लेकर क्या करेगा. आयुष के घर वालों ने पीएमओ, विदेश मंत्रालय, ईरान स्थित भारतीय दूतावास, विदेश मंत्री एस जयशंकर, सुषमा स्वराज से लेकर कई अन्य लोगों को टैग कर ट्वीट किया. इसके बाद ईरान स्तिथ भारतीय दूतावास हरकत में आया. परिजनों ने नोएडा थाने में भी मामला दर्ज करवाया है. 

Latest News